अपनी शक्ति को कैसे पहचाने- हम खुद को कैसे जाने

अपनी शक्ति को कैसे पहचाने – खुद की शक्ति का ज्ञान होना बहुत आवश्यक है

  • व्यक्ति तब तक ही कमजोर रहता है जब तक कि उसे अपनी शक्तियों का एहसास ना हो|
  • व्यक्ति तब तक ही कमजोर रहता है जब तक कि उसको उसकी शक्तियों का ज्ञान ना हो|

जो व्यक्ति अपने सारी शक्तियों को भूल जाता है तो वह खुद को कमजोर और अयोग्य समझ लेता है और उसकी मनोवृति नकारात्मक हो जाती है| जब व्यक्ति असली शक्ति को भूल जाता है तो  वह जैसा है उसी चीज को स्वीकार कर लेता है और वह एक साधारण सा इंसान बनकर ही अपनी जिंदगी को जीने लगता है पर इसके बजाय जो व्यक्ति अपनी असली शक्ति को पहचान लेता है वह तुरंत ही बड़े कार्य करने के लिए तैयार हो जाता है और महानता को हासिल कर लेता है|

हम खुद को कैसे जाने

हमारी मानव जाति इसी प्रकार की है यहां पर ज्यादातर लोगों को यह अहसास ही नहीं होता कि वह भी एक बहुत बड़ी शक्ति के मालिक हैं| बस उनको उनको पहचानने की ही जरूरत है पर वह कभी पहचान नहीं पाते क्योंकि उनका ध्यान आसपास की चीजों पर इतना चला जाता है कि वह खुद को ही भूल जाते हैं|(हम खुद को कैसे जाने)

अगर हमें अपनी शक्ति को पहचानना है तो हमें अपने समंदर रूपी आत्मा के अंदर उतरना होगा और हमें देखना होगा कि हमारे अंदर कौन सी शक्तियां है क्योंकि हम अपने अंदर उतरे बिना खुद को कभी पहचान ही नहीं सकते|

हम खुद को कैसे जाने

आखिर गरीब गरीब क्यों हैं और अमीर अमीर क्यों हैं|

आज आप जितने भी गरीब लोग देख रहे हो ,जो लोग अपने दुखों में अपने जीवन को काट रहे हैं यह वही लोग हैं जो कभी अपनी शक्ति को पहचान नहीं पाए और खुद को कमजोर बताकर काम करना छोड़ दिया | उन्होंने अपनी सोच को पूरी तरह से दूषित कर लिया और पहचान लिया कि वह कमजोर बनने के लिए पैदा हुए हैं और इसीलिए समय के साथ कमजोर बन गए|

वहीं पर कुछ लोग ऐसे हैं जो आज बहुत अमीर है जिनके पास आप सब कुछ है और वे सुख में अपना जीवन जी रहे हैं| यह वह लोग हैं जिन्होंने अपनी शक्ति को समय रहते ही पहचान लिया और उस को जागृत करके अपने सभी कार्यों में महानता हासिल कर ली| उन्होंने खुद को जान लिया कि वह महाशक्ति के मालिक हैं | इसी से उन्होंने महान ज्ञान को हासिल किया और महान कार्य करके सफलता को हासिल किया|

इसीलिए सब इसीलिए कहा जाता है कि सफल वही होता है जो अपनी शक्ति को पहचान लेता है(अपनी शक्ति को कैसे पहचाने) और खुद पर विश्वास कर लेता है कि वह किसी बड़े कार्य को करने के लिए आया है

अतः हमें अपने अंदर सोए हुए इंसान को पहचाना होगा और उसको जगाना होगा और अपने मानसिक शक्तियों का एहसास करके आगे बढ़ना होगा|

अपनी शक्ति को कैसे पहचाने

अपनी शक्ति को कैसे पहचाने|

अगर हम अपनी शक्तियों पर विश्वास करके परिश्रम करने लग जाए तो हम अपने पूरे जीवन की कायापलट कर सकते हैं| जब हम ऐसा करेंगे तो हमारे पास एक ऐसी क्षमता आ जाएगी जिस पर हम खुद ही अचंभित हो जाएंगे और दूसरे भी अचंभित हो जाएंगे|

शक्ति कैसे हमारे जीवन को बदल सकती हैं|

अगर हम एक बार खुद की शक्ति को पहचान कर परिश्रम करना छोड़ दें तो हम इस तरह आगे बढ़ेंगे कि हमें कोई रोकने वाला ही नहीं होगा| हम हर समस्या को आसानी से हरा देंगे और हर बड़ी से बड़ी मंजिल को जीत लेंगे|

जब हमें अपनी शक्ति का एहसास हो जाएगा तो हम अपने सभी आदतों को अपने नियंत्रण में ले लेंगे और हमारे मन को भी खुद के वश में कर लेंगे| हम सभी छोटे-मोटे कार्य करना बंद कर देंगे और महान कार्यों की ओर अग्रसर हो जाएंगे|

जब हम अपनी महान शक्तियों को पहचान लेंगे तो हमारे अंदर ज्ञान की किसी भी तरह की कमी नहीं रहेगी | हम अपने सभी सोई हुई प्रतिभाओं को जगा देंगे और योजना बनाकर कार्य करना शुरू कर देंगे| इसी कारण हम सफलता को प्राप्त भी कर लेंगे|

अपनी शक्ति को कैसे पहचाने

जब हम अपनी शक्तियों को जान लेंगे और खुद को पहचान लेंगे तब हम अपने भविष्य का निर्माण करना शुरू कर देंगे| यह विश्वास हर दिन बढ़ता चला जाएगा और हम खुद के लिए एक ऐसी दुनिया का निर्माण करेंगे जो कभी भी कोई आज तक नहीं कर पाया है|

हम खुद को कैसे जाने

हम अपनी कल्पना शक्ति के साथ अपने हर सपने को पूरा करके दिखा देंगे और महान बन जाएंगे| अत खुद को पहचाने और अपना जीवन बदल लें|

सफलता के लिए क्या जरुरी हैं|

सफलता के लिए खुद को पहचानना और खुद की शक्ति को पहचानना बहुत आवश्यक है क्योंकि यह शक्ति ही हमें प्रेरणा देती है जो कार्य करने के लिए हमें प्रेरित करती है|

आज से ही सारी दुनिया से ध्यान हटा कर खुद पर लगा ले और फिर देखना आप की सारी शक्तियां धीरे-धीरे बाहर आने शुरू हो जायेंगी|


1 thought on “अपनी शक्ति को कैसे पहचाने- हम खुद को कैसे जाने”

Leave a Comment