जीत का संकल्प होना क्यों आवश्यक है|

जीत का संकल्प होना  क्यों आवश्यक है|

अपार सफलता पाने के लिए आपके अंदर जीत का संकल्प होना आवश्यक है| आज हम आपको बताएंगे कि अगर आपके अंदर भी जीत का संकल्प है तो आप किस तरह से औरों से अलग बन सकते हैं और जीत का संकल्प होना सफलता के लिए क्यों आवश्यक है|

जीत का संकल्प आपको कभी हारने नहीं देती

जब आप पक्का जीत का संकल्प कर लेते हो तो फिर आप कभी भी हार नहीं मानते और आप लगातार कोशिश करते रहते हो| ज्यादातर लोग इसीलिए लगातार कोशिश नहीं करते हैं क्योंकि वह पक्का संकल्प नहीं लेते हैं | पर जो लोग सोच लेते हैं कि मुझे यह लक्ष्य पक्के ही हासिल करनी है वह कभी रुकते भी नहीं है और उनके पास कभी भी प्रेरणा की कमी नहीं होती है|

इसीलिए हम जीतने का पक्का संकल्प कर ले और लगातार प्रयास करते रहे और फिर देखना हमारे सभी लक्ष्य अपने आप पूरे हो जाएंगे|

सभी समस्याओं का तोड़ है संकल्प का पक्का होना

जब आप जीतने का पक्का संकल्प कर लेते हो तो आपके आप किसी भी समस्या से हार नहीं मानते और हर समस्या को आसानी से हरा भी देते हो| देखा गया है कि जिन लोगों के अंदर जीतने की ज्यादा जिद नहीं होती है वह समस्याओं से भी ज्यादा समय तक लड़ नहीं पाते हैं और उनके पास ऊर्जाहमेशा कमी होती है| इसीलिए समस्याओं से हार मान कर हार जाते हैं और वह कोशिश करना भी छोड़ देते हैं |

लेकिन जब आपके पास जीत का संकल्प होता है तो आप समस्याओं से कभी हार नहीं मानते और उनसे लगातार लड़ते रहते हैं| इसीलिए आज यही सोच ले “मैं जीतूंगा फिर चाहे मेरे सामने कितनी भी समस्या क्यों ना आ जाए”

“ मैं यह तय कर चुका हूं कि मुझे जीतना है तो फिर मुझे समस्याओं से क्यों घबराना| मैं इनको हरा दूंगा और मैं जीत जाऊंगा”|

 जब आप इस तरह से साफ करते हो तो आपके लिए हर समस्या को हराना आसान हो जाता है|

 पक्का संकल्प करने वाले कभी हार के बारे में नहीं सोचते

 जब आप जीत का पक्का संकल्प कर लेते हो तो फिर आप कभी भी हार के बारे में नहीं सोचेंगे | ज्यादातर लोग हार के बारे में सोचने लग जाते हैं क्योंकि उनका दृढ़ निश्चय इतना मजबूत नहीं होता है और वे जीत के प्रति इतने संकल्पवान भी नहीं होते हैं लेकिन जो लोग जीत का संकल्प कर चुके होते हैं उनको जीतना ही होता है| तो फिर वे  हार के बारे में सोच कर अपना समय क्यों बर्बाद करें|

जीत का संकल्प करने वाले  लोग कभी भी हार से डरकर समय बर्बाद करने की बजाय उनका संकल्प तो जीतने का होता है| इसीलिए जीत का संकल्प आपको कभी भी हार के बारे में नहीं सोचने देती और आपको लगातार कार्य करने के लिए प्रेरित करती रहती है| इसीलिए जीत का संकल्प होना बहुत जरूरी है|

  • आपको कभी भी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए और लगातार खुद को मजबूत बनाते रहना चाहिए|
  • आपके जीतने का संकल्प जितना ज्यादा मजबूत होगा | आप उतनी ही मजबूती से अपनी समस्याओं से लड़ पाएंगे और लगातार प्रयास करते रहेंगे|
  •  लगातार प्रयास करते रहे और कभी भी हार के बारे में नहीं सोचे क्योंकि अगर आपने हार के बारे में सोच लिया तो आप हार जाएंगे| इसीलिए हमें हार के बारे में कभी भी नहीं सोचना है|
  •  हमे बस अपने जीतने के संकल्प को और ज्यादा मजबूत करना है और हम उसको जितना ज्यादा मजबूत करते चले जाएंगे, उतनी हमारी जीत भी पक्की होती चली जाएगी|

Leave a Comment