crossorigin="anonymous"> दूसरों की गलतियों से कैसे सीखे - Motivation For Life

दूसरों की गलतियों से कैसे सीखे

कहते हैं कि सफलता के लिए जरूरी है कि आप खुद की गलतियों से सीखे और खुद की गलतियों को स्वीकार करके आगे बढ़ते रहे और उनको कभी दोबारा ना दोहराए|

बल्कि सफलता के लिए जरूरी सिर्फ यही नहीं है बल्कि यह भी है कि हम दूसरों की गलतियों से कैसे सीखे और कभी खुद गलतियां करे ही ना| हम जितनी कम गलतियां करेंगे उतनी ही हमारी असफलता की संभावना बढ़ती चली जाती है| इसीलिए हमें दूसरों की गलतियों से ही सीख लेना चाहिए ताकि हमसे कोई गलती हो ही ना|

दूसरों की गलतियों से सीखने के आसान तरीके

आज हम आपको बताएंगे कि आप दूसरों की गलतियों से कैसे सीख सकते हो और उनकी गलतियों से सीख कर आप कैसे अपने जिंदगी में आगे बढ़ सकते हो| आइए जानते हैं कि दूसरों की गलतियों से कैसे सीखे|

अपने आसपास के सफल लोगों का अध्ययन करो

सबसे पहले अपने आसपास उन लोगों का देखिए जो दुखी में अपने जीवन काट रहे हैं फिर आपको देखने पर पता चलेगा कि इन लोगों ने कभी भी कोई कार्य नहीं किया और ना ही अपने सही सपने का चुनाव किया|

ज्यादातर लोग असफल इसीलिए हो जाते हैं क्योंकि वह सही तरीके से कार्य नहीं करते हैं और अपने सपनों के पर ध्यान केंद्रित नहीं करते हैं| जब आप अपने आसपास ऐसे लोगों का अध्ययन करो तो देखिए कि उनके अंदर क्या-क्या कमियां है और फिर खुद के अंदर उन्हीं कमियों को दूर कर लीजिए| ऐसा करने से आप दूसरों की गलतियों से आसानी से सीख सकते हो और उनके व्यवहार , उनकी आदतों और उनकी सोच का पता लगा सकते हो और फिर आप ऐसे लोगों की तरह कभी  गलतियां कभी मत करो और अपने आप को सुधार लो|

सफल लोगों की जीवनी पढ़ें

आपको समय-समय पर सफल लोगों की जीवनी पढ़नी चाहिए क्योंकि जब हम सब लोगों की जीवनी पढ़ आएंगे तो हमें इससे बहुत ज्यादा सीखने को मिलेगा| हमारे ज्ञान के साथ हमारे अनुभव में भी बढ़ोतरी होती है|और हमें यह भी पता चलेगा कि सफल लोग किस तरह से सोचते हैं और किस तरह से सकारात्मक विचार के द्वारा सफलता को प्राप्त किया है | हमे उनकी उन  गलतियां का भी पता चलेगा जो गलतियां उन्होंने की थी और उन्हें जो अच्छे कदम उठाए थे उनको पढ़कर हम अपनी गलतियों को ढूंढ सकते हैं और उनको दूर कर सकते हैं|

सफल लोगों की जीवनी को पढ़कर भी हम अपनी गलतियों को सुधार सकते हैं और उनको होने से पहले ही खत्म कर सकते हैं|

खुद के कार्यों की समीक्षा करें

अगर हम खुद के कार्यों की हर दिन समीक्षा करते हैं तो हमसे गलती होने की संभावना बहुत कम हो जाती है| इसीलिए जरूरी है कि हम हर दिन खुद के कार्य की समीक्षा करें और देखें कि आज मैंने क्या गलत किया है और क्या सही और इसी प्रकार लंबे समय तक करने से हमारी गलतियां होने की संभावना बहुत कम हो जाती है|

आप दूसरे के कार्यो की भी समीक्षा कर सकते हो कि उन्होंने किस तरह से कार्य किया है और वे अपने इस कार्य को क्यों पूरा नहीं कर पाए| जब आप दूसरों के कार्यों की इस तरह से समीक्षा करेंगे तब आपको पता चलेगा कि उन्होंने कार्य करते वक्त यह गलतियां की थी और वह इन  गलतियों के कारण अपने कार्यों को पूरा नहीं कर पाये  और अगर आप उन गलतियों को ढूंढ कर खुद ना करो तो आप आसानी से उस कार्य को पूरा कर लोगे|

इसीलिए जरूरी है कि हम दूसरों की गलतियों पर भी ध्यान रखें और उनसे सीख कर आगे बढ़ते रहें|

दूसरों की गलतियों से कैसे सीखे

दूसरों के जीवन में हो रही घटनाओं का पता लगाएं

आपको यह भी पता होना चाहिए कि दूसरों के जीवन में क्या-क्या घटनाएं हो रही है और उनके सामने क्या-क्या समस्याएं आ रही है तथा वे किस तरह से अपनी समस्याओं से अलग नहीं हो पा रहे हैं|

जब हम दूसरों की समस्याएं देखते हैं और उनकी सोच का पता लगाने की कोशिश करते हैं तब हमें पता चलता है कि उन लोगों की सोच छोटी है और उन लोगों के पास जो समस्याएं हैं वे उनकी सोच के कारण ही है| और जब हम अपनी सोच को उनकी सोच से मिलायेंगे तब हमें पता चलेगा कि हमारी सोच कितनी बड़ी है और उनकी कितनी छोटी |

इस तरह हम अपनी सोच को उनकी सोच से मिलाकर भी खुद की सोच को सुधार सकते हैं और खुद की गलतियों को होने से पहले ही रोक सकते हैं|

दूसरों के जीवन में हो रही सभी समस्याओं का अध्ययन करें और देखें कि वह समस्याएं उनके जीवन में क्यों है और अगर आप भी ऐसी गलती कर रहे हो तो आपके जीवन में भी ऐसी समस्या आ सकती है| इसीलिए उन गलतियों को तुरंत ही करना बंद कर दें या कभी करें ही ना|

गलतियों पर हंसना सीखें

दूसरों की गलतियों से सीखना जितना जरूरी ही है कि हम भी अपनी गलतियों से सीखे| इसीलिए जब भी आप से कोई गलती हो तो उस पर हसे और कहे कि मुझे इस गलती से भी बहुत कुछ सीखने को मिला है| आज के बाद मैं यह गलती कभी नहीं करूंगा और मैं अपनी गलती को स्वीकार करता हूं|

जब आप इस तरह से गलती को स्वीकार करके आगे बढ़ोगे तो भी आपके सफल होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है|

तो अगर आप इन सभी तरीकों को अपने जीवन में लाते हो तो आप दूसरों की गलतियों से भी सीख सकते हो और खुद की गलतियों से भी सीख सकते हो|

  • दूसरों की गलतियों को सीखने का यह फायदा होता है कि हम अपने कार्य को जल्द से जल्द पूरा कर सकते हैं और नष्ट हो रहे समय को बचा सकते हैं |
  • दूसरों की गलतियों से सीखने का यह भी फायदा होता है कि हमें हमारा अनुभव उनकी गलतियों से ही बढ़ जाता है और हमारे ज्ञान में भी वृद्धि होती है|
  • अतः दूसरों से भी सीखते रहे और खुद की गलतियों से भी सीखते रहें और अगर आप इसी तरह सीखते रहेंगे तो आप भी आगे बढ़ते रहेंगे और आसानी से अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर लेंगे|


Leave a Comment