बच्चों को अच्छी आदतें सिखाना क्यों आवश्यक है

आज हम आपको बताएंगे कि बच्चों को अच्छी आदतें सिखाना क्यों आवश्यक है तथा किस तरह उनको सुधार कर महान बन सकते हैं| इनके अलावा हम कुछ ऐसे भी सवालों के जवाब देंगे जिनके जवाब पाकर आप भी अपने बच्चों को सुधार सकते हो तथा उनके अंदर नई आदतें विकसित कर सकते हो आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही सवाल है जो लगभग हर माता-पिता के दिमाग में होते हैं|

घर का माहौल का बच्चों पर क्या फर्क पड़ता है

घर का माहौल का बच्चों पर बहुत ज्यादा फर्क पड़ता है| बच्चे वैसे ही सीखते हैं जैसे उनके माता-पिता होते हैं| इसीलिए जरूरी है कि हम अपने अंदर अच्छी आदतों को रखें ताकि वह भी अच्छी आदतें को अपने आप ही अपना सके|

  • जिनके घर में लड़ाई झगड़े होते हैं उनके बच्चों के मनोवृति भी वैसी ही हो जाती है और भी लड़ाई झगड़े ही करने लगते हैं|
  • जिनके माता-पिता अक्सर आपस में झूठ बोलते हैं और अपने बच्चों को भी झूठ बोलते रहते हैं तो बच्चे भी बदले में झूठ ही बोलते हैं|
  • बच्चे घर में अगर लड़ाई झगड़े की ज्यादा फिल्में देखते हैं तो ऐसा भी हो सकता है कि वह भी भविष्य में ऐसे ही बनने की कोशिश करें|
  • अगर घर में उनके माता-पिता धूम्रपान करते हैं तो इसकी बहुत ज्यादा संभावना है कि उनके बच्चे भी जरूर करेंगे|

यह पहले ही साबित हो चुका है कि हमारे घर में जैसा होता है वैसे ही माहौल में रहना सीख जाते हैं और वैसा ही बनना भी सीख जाते हैं|

बच्चों के अंदर बुरी आदतों का निर्माण कैसे होता है

बच्चों के अंदर बुरी आदतों का निर्माण उनके घर के माहौल, उनकी परवरिश के हिसाब से हो सकता है या उनके बुरे दोस्तों के कारण हो सकता है |अगर आप अपने बच्चों के ऊपर ध्यान नहीं देते हो तो अपने आप ही बुरी आदतें सीख जाते हैं या अपने दोस्तों के संगत में आकर उनको बुरी आदत लग जाती है|

इसीलिए जरूरी है कि उसे पहले ही हम उनके अंदर अच्छी आदतें आने में उनकी मदद करें| ऐसा करने से भी वे बुरी आदतों से भी दूर रहेंगे और अच्छी आदत को भी अपना भी लेंगे|

बच्चों के अंदर अच्छी आदतों का निर्माण कैसे कर सकते हैं

अगर आप भी बच्चों के अंदर अच्छी आदतों का निर्माण करना चाहते हो तो आपको अच्छे फायदों के बारे में बताना होगा| उन पर नजर रखनी होगी |

बच्चों को अच्छी आदतें सिखाना क्यों आवश्यक है

बच्चों को अच्छी आदतें सिखाना इसलिए आवश्यक है क्योंकि अगर हम उन्हें अच्छी आदतें नहीं सिखाएंगे तो भी अपने आप ही बुरी आदतें सीख लेंगे और उनके वश में हो जाएंगे |ऐसा करने से हमारे बच्चे गलत दिशा में आगे बढ़ाएंगे और भविष्य में कुछ भी हासिल नहीं कर पाएंगे| इसलिए जरूरी है कि हम उनको अच्छी आदत सिखाएं ताकि वे भी अपने जीवन में अपने सभी सपनों को पूरा कर सके और समाज में मान सम्मान कमा सकें|

बच्चों पर उनके दोस्तों की आदतों का क्या असर होता है

अगर हमारे बच्चों के दोस्त गलत है और बुरी संगत से घिरे हुए हैं तो हमारे बच्चे भी बुरी संगत से घिर जाएंगे| अक्सर देखा गया है कि दोस्तों की एक पूरी की पूरी कमेटी ही एक ही जैसी आदतों का शिकार होती है|

अगर हमारे बच्चों के साथ भी अच्छी आदतों वाले दोस्त रहते हैं तो हमारे बच्चे भी सही दिशा में आगे बढ़ेंगे और अगर हमारे बच्चों के साथ बुरी आदतों वाले दोस्त रहते हैं तो हमारे बच्चे भी उन्हीं संगत से घिर जाएंगे|

इसीलिए जरूरी है कि हम अपने बच्चों के साथ अच्छे दोस्तों को ही रहने दे तथा उनको अच्छे दोस्तों में और बुरे दोस्तों में अंतर करना सिखाए ताकि वह भी अच्छे दोस्तों को अपने साथ लेकर आगे बढ़ सके|

क्या परिवार की आदतों का बच्चों पर फर्क पड़ता है

जैसी आदतें हमारे अंदर होती है वैसी ही आदतें हमारे बच्चों के अंदर भी चली जाती है| इसलिए जरूरी है कि हम अपने परिवार के सभी सदस्यों को अच्छी आदतों को अपनाना सिखाएं ताकि हमारे बच्चे भी उन्हीं आदतों की नकल करके वैसा ही बन सके|

बच्चों को बुरी आदतों से दूर कैसे रखे  

अगर हम भी अपने बच्चों को बुरी आदतों से दूर रखना चाहते हैं तो हमें उन को अच्छी आदतें सिखानी  होगी तथा बुरी आदतों के नुकसान के बारे में बताना होगा| ऐसा बार बार बताने से वो बुरी आदतों के नुकशान और अच्छी आदत के फायदे समझ जायेंगे और उनको कभी भी नहीं अपनाएंगे |

बच्चों की प्रतिभा को कैसे पहचाने

अगर आप भी अपने बच्चो की प्रतिभा को पहचानना चाहते हो तो उनके बचपन में देख सकता है |बचपन के शुरुआती दिनों में ही बच्चे  किसी एक चीज की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं तथा एक ही चीज पर ज्यादा ध्यान देते है| तो अगर हम उनको बचपन में ही देख ले कि हमारे बच्चे का किस चीज में इंटरेस्ट है तथा किस चीज में रुचि ले रहा है तो उनको वैसे ही शिक्षा प्रदान कर सकते हैं ताकि वह भी वैसे ही बन जाए जैसी उनके अंदर प्रतिभा है|

जब हम उनको उनकी प्रतिभा के अनुसार शिक्षा प्रदान करेंगे तो वह अपने प्रतिभाओं को निकार सकेंगे तथा उसमें सर्वश्रेष्ठ बन सकेंगे| इसीलिए जरूरी है कि हम अपने बच्चों की प्रतिभाओं को पहचान ले तथा उनको वैसे ही शिक्षा प्रदान करें जिससे उनके प्रतिभाओं में निखार आएगा तथा वे उसी प्रतिभा का इस्तेमाल करके जीवन में आसानी से सफलता प्राप्त कर सकते हैं|


Leave a Comment