क्रोध से होने वाले रोग disease of anger in hindi

आज हम आपको बताएंगे कि क्रोध से होने वाले रोग कोनसे हैं और आपका गुस्सा आपके शरीर को किस तरह से नष्ट कर रहा है तथा यह आपको किस तरह से मौत से जल्दी ही मिलवा सकता है| और किस तरह क्रोध नए रोग को जन्म देता हैं|

गुस्सा सिर्फ नौकरी के लिए व रिश्तो के लिए ही खतरनाक नहीं होता बल्कि आपके शरीर के लिए भी खतरनाक होता है| यह आपके शरीर में नई बीमारियों रोग को पैदा करता है और आपका तनाव भी बढ़ा देता है जिसके कारण आप किसी भी कार्य को अच्छी तरह से पूरे भी नहीं कर पाते और आपका शरीर नई नई बीमारियों रोग को भी पैदा करना शुरू कर देता है|

अतः आज हम जानेंगे कि क्रोध से होने वाले रोग (disease of anger in hindi ) कोनसे हैं और अगर आपके अंदर भी गुस्सा है तो वह किस तरह से आपके पूरे शरीर शरीर को बर्बाद कर रहा है |

गुस्सा आयु को कम कर देता है

बहुत सारे वैज्ञानिकों के निरीक्षण से पता चलता है कि जो व्यक्ति गुस्से से भरे हुए होते हैं वे अपनी जीवन को इतना लंबा नहीं जी पाते जितना लंबा की शांत सहभाव वाला व्यक्ति जीता हैं क्योंकि गुस्से से भरे हुए व्यक्ति की सभी कोशिकाएं जल्दी मरने लगती है और भी उतनी अच्छी तरह से कार्य भी नहीं कर पाती |

इसीलिए जरूरी है कि हम गुस्से को अपने शरीर से दूर रखें वरना यह हमारे शरीर के अंदर घुस कर हमारे सभी कोशिकाओं को मारने लगता है और हमारी आयु भी कम होने लगती है|

गुस्सा मस्तिष्क को अशांति से भर देता है|

हमारा पूरा शरीर हमारे मस्तिष्क के द्वारा ही नियंत्रित होता है और अगर हमने अपने मस्तिष्क में ही गलत चीजों को भर दिया तो हमारा शरीर भी पूरी तरह से गलत दिशा में चलने लगता है|

जब हम अपने दिमाग के अंदर क्रोध को भर लेते हैं और गुस्से को भर लेते हैं तो इससे हमारा दिमाग अनियंत्रित रूप से कार्य करने लगता है और हमारे दिमाग अशांति से भर जाता है| इसीलिए हमारे शरीर अच्छी तरह से काम नहीं करता और हमारा पाचन तंत्र, खून का प्रवाह, हमारी हार्ट रेट अच्छी तरह से काम नहीं करते |इसका असर यह होता है कि हम अपने शरीर में नई बीमारियों को जन्म देने लगते हैं और इससे हमारी आयु भी लगातार घटती चली जाती है|

नई बीमारियों को गुस्सा जन्म देता है

जो व्यक्ति शांत स्वभाव के होते हैं अक्सर दवाई की बहुत कम जरूरत पड़ती है और भी बहुत कम बीमार भी होते हैं| अगर आप भी हद से ज्यादा गुस्सा करते हो तो आपको कैंसर तक हो सकता है और इसके अलावा भी आपको ढेर सारी नई बीमारियां पैदा होना शुरू हो जाती है और यह सब गुस्से के कारण ही होता है क्योंकि गुस्से में हमारा शरीर अच्छी तरह से कार्य नहीं करता है और हमारा दिमाग भी काम नहीं करता है|

इसीलिए जरूरी है कि अगर हम भी अपने आपको बीमारी से दूर रखना चाहते हैं तो हमें गुस्से को भी अपने शरीर से दूर रखना होगा और हमेशा शांत रहने की कोशिश करनी होगी|

गुस्से से कार्यों में सुस्ती आती है

जो व्यक्ति गुस्से से भरा हुआ होता है वह किसी भी कार्य को आसानी से पूरा नहीं कर पाता और वह अस्वस्थ होना शुरू हो जाता है क्योंकि गुस्से में हमारा शरीर अच्छी तरह से कार्य नहीं करता है और यह हमारी मांसपेशियों को एक प्रकार से बंद कर देता है| जिसके कारण हमारे शरीर की ऊर्जा भी अपने आप खत्म होने लगती है|

इसीलिए मैंने कहा था कि गुस्सा हमारे शरीर के लिए खतरनाक है और यह हमारे पूरे शरीर को धीरे-धीरे नष्ट करता रहता है|

गुस्से से चेहरे पर झुरिया हो जाती है

जो व्यक्ति ज्यादा गुस्सा करता है उसको समय से पहले ही शरीर पर झुरिया दिखनी शुरू हो जाती है और वह बूढ़ा दिखने लगता है क्योंकि गुस्सा हमारे तवचा की कोशिकाओं को मारता रहता है और उन्हें कमजोर करता रहता है जिसके कारण हमारे शरीर पर जल्द ही झुरिया दिखाई देने लगती है|

अगर आप भी लंबे समय तक जवान देखना चाहते हो तो आपको गुस्से को अपने शरीर से दूर रखना होगा|

क्रोध से होने वाले रोग

गुस्से से तनाव का स्तर बढ़ जाता है

जो व्यक्ति गुस्से से भरा हुआ होता उसका तनाव का स्तर भी बढ़ता चला जाता है और वह काफी दिनों तक डिप्रेशन भी रह सकता है| इसलिए जरूरी है कि हम तनाव को स्तर को बनाए रखें और इसके लिए हमें अपने शरीर से गुस्से को दूर रखना होगा और हमेशा शांत रहने की कोशिश करनी होगी|

तो आज आपने देखा कि कैसे गुस्से हमारे पूरे शरीर को नष्ट कर सकता है तो हमारे अंदर नयी बीमारियों को पैदा करके हमारी आयु को कम कर देता है| इसीलिए जरूरी है कि हम गुस्से को अपने शरीर से दूर रखें ताकि हम भी लंबे समय तक जवान दिख सके और अपनी त्वचा के रंग रूप को भी बचाए रख सके|

Leave a Comment