crossorigin="anonymous"> how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के best 5 तरीके - Motivation For Life

how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के best 5 तरीके

Contents hide

how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के 5 तरीके

गलती करना कोई बड़ी बात नहीं है, पर एक ही गलती को बार-बार दोहराना आपको काफी भारी पड़ सकता है|

मैं आपको खुद की गलतियों से सीखने के आपको पांच तरीके से सिखाऊंगा|

गलतियों से सीखने के 5 तरीके how to learn from mistakes

  • अपनी गलतियों को स्वीकार करेंAdmit your mistakes
  • खुद से सवाल पूछेAsk yourself questions
  • नई योजनाएं बनाएंMake new plans
  • अपनी योजनाओं को आकार देShape your plans
  • बात पर अड़े ना रहेDo not stick to the matter

अपनी गलतियों को स्वीकार करें how to learn from mistakes

जब आप अपनी गलती को स्वीकार करते हैं, तो आप अगली बार उसमें सुधार कर सकते हैं लेकिन गलती करने के बाद में भी आपको लगता है, कि आपने कोई गलती नहीं की, तो फिर आप सुधार नहीं कर पाओगे | इसीलिए गलती करने के बाद, आपको अपनी उस गलती को स्वीकार करना होगा, जो आपने की है| तथा स्वीकार करने के बाद आप अगली बार उस गलती को सुधार करने का प्रण ले सकते हो|

अगली बार कोई भी व्यक्ति जब असफलता प्राप्त करता है, तो उसके पीछे काफी सारी गलतियां छुपी हुई होती है| और जब तक  वह उन गलतियों को स्वीकार नहीं करता, तब तक वह लगातार असफल होता रहता है लेकिन जब वह एक बार हर गलती को ढूंढ कर उनको स्वीकार करना शुरू कर देता है, तो उसमें सुधार भी आना शुरू हो जाता है|

how to learn from mistakes

गलतियों को स्वीकार करने से आप सफलता की सीढ़ियों पर चढ़ना शुरू हो जाते हैं|  बल्ब का आविष्कार करने वाले थॉमस एडिसन को बल्ब बनाने से पहले 10000 बार असफल प्रयास करने पड़े थे| वह 10000 बार फेल हुए पर उन्होंने जो गलती पहले प्रयास में कि, वह गलती उन्होंने कभी भी दूसरे प्रयास में नहीं दोहराई और उन्होंने जो गलती दूसरे प्रयास में कि, उन्होंने वह गलती अपने तीसरे प्रयास में नहीं दोहराई|

how to learn from mistakes

इसी प्रकार उन्होंने 10,000 गलतियों को सुधार कर ही बल्ब का आविष्कार किया| इसीलिए सफलता प्राप्त करने के लिए गलतियों को ढूंढना सीखो और उनको स्वीकार करके आप फिर सुधार करना सीखो|

गलतियों से सीखते रहना ही सफलता की प्रक्रिया है|

how to learn from mistakes

खुद से सवाल पूछे how to learn from mistakes

how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के 5 तरीकेaakash poonia quotesmotivationforlife.in
how to learn from mistakes

गलती होने के बाद गलती को स्वीकार करें व गलती को स्वीकार करने के बाद, आपको खुद से सवाल पूछने चाहिए ताकि आप उस गलती की सही तरह से जांच पड़ताल कर सको कि आखिर आपने कब और कैसे गलती की|

तो आइए जानते हैं कि आखिर आप कैसे सवाल पूछ कर खुद को सुधार सकते हो

  • मैंने क्या गलत किया?
  • मैंने कहा गलती की?
  • मैंने कब गलती की और कैसे की?
  • मैं अपनी गलतियों से क्या सीख सकता हूं?
  • मैं अपनी गलती को कैसे सही कर सकता हूं?
  • क्या मैं उन्हें बेहतर रूप से सही कर सकता हूं ?

आप खुद से क्यों, कहा, कैसे, कब, क्या जैसे सवाल पूछ कर खुद में सुधार कर सकते हो| इन सभी सवालों को एक कागज पर उतार कर उनके उत्तर लिखें फिर सवालो पर खुद की प्रतिक्रिया करके आप हर गलती को सही कर सकते हो|  इसी तरह काम करने से आप आने वाले सभी समस्याओं को कम कर सकते हो|

नई योजनाएं बनाएंhow to learn from mistakes

how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के 5 तरीकेaakash poonia quotesmotivationforlife.in
how to learn from mistakes

गलतियां स्वीकार करने के बाद, आपको खुद से सवाल पूछ कर यह निश्चित कर लेना है. कि कहां गलती हुई है| उसके बाद अगला कदम आता है, कि आप अपनी गलतियों को सही करने के लिए नए सिरे से नई योजनाएं बनाएं| आपको नई योजनाएं आपकी पुरानी गलतियों को सही करेंगी |

यहां पर आपको थोड़ी हिम्मत करके अपने कार्य को सही तरीके से करने की आवश्यकता है ताकि आप अपनी योजनाओं को पूरी कर सको| बहुत बार हम अपनी गलतियों पर अड़े रहते हैं तथा उन को बदलने की कोशिश नहीं करते, लेकिन आप खुद से एक बार पूछ कर देखिए, जब तक आप अपनी गलतियों पर अड़े रहेंगे, तब तक आप सफलता कैसे प्राप्त करोगे |

इसीलिए अपनी गलतियों को सुधारने के लिए आपको नए सिरे से सोच कर खुद को पूरी तरह से बदलना होगा, जिससे कि आप अपने सभी योजनाओं को सफल बना सके | इसीलिए आज से ही नई योजनाएं बनाकर उनको अपनी कॉपी में उतार ले और फिर उन पर काम करना शुरू कर दे|

how to learn from mistakes

अपनी योजनाओं को आकार दे how to learn from mistakes

how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के 5 तरीकेaakash poonia quotesmotivationforlife.in
how to learn from mistakes

जब आप अपनी योजनाओं को उतार ले, तो अब आपको उनको आकार देना चाहिए| बहुत बार हम असफलता के डर से अपनी योजनाओं को आकार देने से डरते हैं| हमको लगता है, कि हमारी पुरानी वाली योजनाएं ही अगर असफल हुई है, तो यह नई वाली योजनाएं भी असफल होगी|

पर ऐसा जरूरी नहीं है, कि आपकी नई योजनाएं भी असफल हो| अगर नई योजनाएं असफल हो भी जाती है, तो आपको वहां से बहुत कुछ नया सीखने को मिलेगा| इसीलिए अपनी नई योजनाओं को आकार देने से डरे नहीं बल्कि बस में पूरा कर दें|

how to learn from mistakes

फिर से गलती स्वीकार करेंhow to learn from mistakes

जब आपकी नई योजनाएं भी असफल हो जाए, तो फिर से अपनी गलती को स्वीकार करें तथा देखे कि आपने कहा, कैसे और कब गलती की है| फिर आप उन गलतियों को सही करके, फिर से नई योजनाएं बनाएं और फिर से अपनी योजनाओं को आजमा कर देखें|

इसी प्रकार आप लगातार अगर कोशिश करते रहोगे, तो आप जल्दी सफलता को प्राप्त कर लोगे| इसीलिए योजनाओं पर लगातार काम किए बिना कभी भी सफलता प्राप्त नहीं की जा सकती| इसीलिए खुद के द्वारा बनाई गई सभी योजनाओं पर काम करते रहे हैं और  सफलता को प्राप्त करें|

खुद की योजनाओं पर काम करने के लिए आपको motivation की आवश्यकता होगी| इसीलिए आप हमारे self motivation tag के सभी आर्टिकल में आपको भरपूर मात्रा में motivation मिलेगा| वहां से आप हमारे सभी self motivation article पढ़ कर खुद को motivate कर सकते हो|

how to learn from mistakes

बात पर अड़े ना रहे how to learn from mistakes

बहुत बार जब हमारी योजनाएं सफल हो जाती ह,  तो हम उन्हीं तरीकों से फिर से उन योजनाओं को पूरी करने की कोशिश करते हैं| इसीलिए खुद को लचीला बनाए व पुराने तरीकों को छोड़कर, नहीं तरीकों से अपने आप को आजमा कर देखें|

  • इसीलिए अड़े ना रहे, नए तरीकों से अपने काम को पूरा करने की कोशिश करें|
  • जब भी आप गलती करे,  तो सबसे पहले आपको अपनी गलती को स्वीकार करना होगा, कि आपने गलती की है|
  • गलती स्वीकार करने के बाद आपको देखना होगा, कि आपने कहा, कब और कैसे गलती की| उन सभी गलतियों को तलाश करके लिख ले|
  • फिर आपको उन गलतियों को सही करने के तरीकों के बारे में सोचना होगा तथा नए सिरे से योजनाओं को बनाना होगा|

 योजनाएं बनाने के बाद आपको उन योजनाओं में विश्वास करना होगा कि यह योजनाएं इस बार सफल होगी और अगर वह योजनाएं फेल भी हो जाए तो खुद को मोटिवेट कर के फिर से योजनाएं बनाएं तथा फिर से खुद की गलती को स्वीकार करके, काम करते रहे| इसी तरह आप सफलता को प्राप्त कर सकोगे|

खुद की गलतियां स्वीकार करने के फायदे Benefits of accepting your own mistakes

how to learn from mistakes-अपनी गलतियों को सुधारने के 5 तरीकेaakash poonia quotesmotivationforlife.in
how to learn from mistakes
  • आप अपना काफी समय असफल योजनाओं में गवा देते हो, इससे आप सही योजनाओं का चयन करके उनमें समय को लगा सकते हो|
  • आप अपनी योजनाओं को नहीं नए शिरे से  बना सकते हो|
  • गलती स्वीकार करने के बाद आपके सफल होने की संभावना काफी बढ़ जाती है|
  • आप गलती स्वीकार करने से खुद में अद्भुत तरीके से सुधार कर सकते हो|

यह आर्टिकल forbes.com से संशोधित किया गया है|

गलतियों से सीखना क्यों जरूरी है|

जब आप अपनी गलतियों से सीखने लग जाते हैं, तो आपके सफल होने की संभावना लगभग तय हो जाती है| गलतियों से सीखना कुछ लोग ही जानते हैं, और जो जानते हैं वह सफल भी जरूर होते हैं, इसीलिए सफलता प्राप्त करने के लिए गलतियों से सीखना बहुत ही आवश्यक है| गलतियों से सीखना वाकई में अद्भुत है, तो आइए इस अद्भुत आर्टिकल को शुरू करते हैं

गलतियों से सीखने ला गलतियां करना किसी को पसंद नहीं है, और कोई करना भी नहीं चाहता| लेकिन जब आप कोशिश करते हैं, तो गलतियां होती है|अपनी गलतियों से सीख लेना ही समझदारी है|

गलतियां तो सभी करते हैं, पर सफल लोग अपनी गलतियों से सीख लेते हैं, पर असफल लोग अपनी गलतियों से सीखे बिना ही उनको दोहराते रहते हैं और अगर आप अपनी गलतियों को ही दोहराते रहोगे, तो आपको परिणाम भी वही मिलेंगे, जो पहले मिल रहे थे| तो आज मैं आपको ऐसे ही सकारात्मक बातें बताऊंगा, जो आप अपनी गलतियां करने के बाद ही सीखते हो क्योंकि अक्सर हम गलतियां करने के बाद निराश हो जाते हैं, पर अगर आप अपनी गलती करने को सकारात्मक तरीके से देखें, तो आपको अपनी गलतियों में भी आपकी जीत नजर आएगी|

how to learn from mistakes

अपनी गलतियों से सीखने लायक 10 बातें10 things to learn from your mistakes

1.सफलता एक संयोग नहीं बल्कि विफलताओ से मिलकर बनी हुई यात्रा है|

2.गलतियां ही हमारी प्रगति का सूचक है|

3.गलतियां हमें योजनाओं का पूर्ण निर्माण करना सिखाती है|

4.गलतियां ही हमें मजबूत बनाती है|

5.विपरीत परिस्थितियों में हम सकारात्मक रहना सीख जाते हैं|

6.गलतियों से हम प्रेरणा को हासिल करते हैं|

7.गलतियां हमें यह दिखाती है कि हम कितने काबिल है|

8.गलतियां हमें रचनात्मक रूप से सोचने पर मजबूर करती है|

9.गलतियां हमें नए अवसर प्रदान करती है|

10. गलतियां करने से ही हम बेहतर बनते हैं|

अब मैं आपको ऐसी 10 बातें बताऊंगा,जो आप गलती करके सीख सकते हैं|तो आइये शुरू करते हैं |

सफलता एक संयोग नहीं बल्कि विफलताओ से मिलकर बनी हुई यात्रा है|

जब हम गलतियां करते हैं, तब हमें पता चलता है कि जितने भी लोग आज तक सफल हुए है वह एक संयोग नहीं है बल्कि वह भी न जाने सफल होने से पहले कितनी असफलताओं से गुजरे होंगे और जब हम यह जान लेते हैं कि असफलताओं के बाद ही सफलता प्राप्त होती है, तो हम असफलताओं से निराश ना होकर motivation प्राप्त करते हैं| इसीलिए आप भी असफलताओं से निराश ना होक,र motivation को प्राप्त करें|

 बिना गलतियों के सफलता प्राप्त करना असंभव है|

how to learn from mistakes

गलतियां ही हमारी प्रगति का सूचक है|

आखिर हम गलतियां करते कब है, हम गलतियां तभी करते हैं, जब हम कोशिश कर रहे होते हैं और कोशिश करने वाला ही सफलता की और जाता है|

         हारा वही है, जिसने कभी कोशिश की है

how to learn from mistakes

जान लो, कि अगर आप से गलतियां हो रही है ,तो आप सही रास्ते पर हैं| गलतियां ना करने वाले कभी सफल भी नहीं होते हैं|

इसीलिए अपनी गलतियों को अपनी प्रगति का सूचक मानकर उनको सुधारते चले जाओ और इसी प्रकार गलतियों को सुधारने व उन गलतियों से सीखने की आपकी आदत ही आपको एक  दिन सफलता प्रदान करेग |

गलतियां हमारी विफलता का नहीं बल्कि हमारी सफलता का सूचक होती है|

how to learn from mistakes

गलतियां अक्सर बहादुर लोग ही करा करते हैं|

how to learn from mistakes

गलतियां हमें योजनाओं का पूर्ण निर्माण करना सिखाती है|

जब हम गलती करते हैं, तभी हमें पता चलता है कि हमारी योजनाओं में कुछ कमियां थी और इसी कारण हम लगातार असफल हो रहे हैं| फिर जब हम उन गलतियों से सीख कर, नए सिरे से अपनी योजनाओं को नया आकार देते हैं तो हम सफल होना शुरू हो जाते हैं|

अगर आप चाहो तो गलतियां करके अपनी योजनाओं को बंद कर सकते हो या अगर आप चाहो तो, गलतियां करने के बाद अपनी योजनाओं को और बेहतर बना सकते हो|

  योजनाओं का पूर्ण निर्माण करे बिना सफलता नहीं मिल सकती |

how to learn from mistakes

गलतियां ही हमें मजबूत बनाती है|

 जब हम गलतियां करते हैं, तभी आत्म विश्लेषण करने को मजबूर हो जाते हैं और हम जितना आत्म विश्लेषण करते रहते हैं, हम उतनी ही ज्यादा मजबूत बनते जाते हैं| गलतियां हमें हमेशा खुद की समीक्षा करने के लिए मजबूर करती है और उससे हमें खुद की कमजोरियों का व खुद की ताकतों का पता चलता है| इसीलिए खुद को मजबूत बनाने के लिए गलतियों का होना बहुत आवश्यक है| इसीलिए गलतियों से खुद को कमजोर बनाने की बजाय मजबूत बनाने में ध्यान दें|

           गलतियों से कमजोर नहीं बल्कि आप मजबूत ही बनते हैं|

how to learn from mistakes

विपरीत परिस्थितियों में हम सकारात्मक रहना सीख जाते हैं|

जब असल में हमारा सामना समस्याओं से होता है ,तभी हम देख पाते हैं कि क्या हम बुरी से बुरी स्थिति में भी सकारात्मक रह सकते हैं और इन स्थितियों का सामना आपको खुद ही करना होता है| इसीलिए बिना विपरीत परिस्थितियों से गुजरे बिना, हम सकारात्मक माहौल बनाना सीख ही नहीं सकते|

इसीलिए गलतियां हमें विपरीत परिस्थितियों में भी सकारात्मक रहना सिखा देती है|

गलतियों से हम प्रेरणा को हासिल करते हैं|

हां मैंने सही कहा, जितने भी सफल लोग हैं, उन्होंने गलतियां करके ही खुद को प्रेरित किया| जब आप गलतियां करते हैं, तो आप खुद को चैलेंज कर सकते हैं, कि मैं इस बार यह गलती नहीं करूंगा और मैं इसे सही करके दिखा दूंगा”|

तो अगर आप चाहे, तो गलतियों से प्रेरणा भी हासिल कर सकते हैं और चाहे  तो गलतियों से निराशा भी हासिल कर सकते हैं|

10 things to learn from your mistakes

गलतियां हमें यह दिखाती है कि हम कितने काबिल है|

जब आप गलतियां करते हैं, तभी आपको असल में पता चलता है, कि क्या आप सफलता प्राप्त करने के काबिल है या नहीं| अगर आप गलती करने के बाद में अपनी योजनाओं पर काम करना बंद कर देते हैं, तो आप सफलता प्राप्त करने के काबिल नहीं हो, लेकिन अगर आप गलती करने के बाद भी फिर से दोबारा नयी योजना बनाकर काम करते हो, तो आप सफलता प्राप्त करने के काबिल हो|

गलतियां हमें रचनात्मक रूप से सोचने पर मजबूर करती है|

हां मैंने सही कहा, गलतियां ही हमें रचनात्मक रूप से सोचने पर मजबूर करती है| जब हम गलतियां करते हैं, तो उन गलतियों को सही करने के लिए रचनात्मक रूप से सोचते हैं और इससे हमारी बुद्धि विकसित होती है| गलतियां करने से हमारी सोचने का नजरिया भी मजबूत बनता है|

इसीलिए गलतियां करना हमारी नई अंतर्दृष्टि को पैदा करने के लिए बहुत आवश्यक है|

गलतियां हमें नए अवसर प्रदान करती है|

बिना गलतियां किए हुए हैं, कुछ नई चीज को बना ही नहीं सकते| जब हम लगातार गलतियां करते हैं, तो हम लगातार सीखते भी है| इससे हमारे अंदर नए-नए गुण विकसित होते हैं और इसी से हमने अवसर भी बनाते हैं|

गलतियां करने से ही हम बेहतर बनते हैं|

गलतियां करने से ही, हम खुद को माफ़ करके आगे बढ़ना सीखते हैं| गलतियां करने से ही हम खुद को और भी बेहतर बना सकते हैं बस ये हम पर निर्भर करता हैं की हम गलती करके रुक जाते हैं या उस गलती से सीखकर आगे बढ़ते हैं|