बच्चों को पढ़ने के लिए कैसे प्रेरित करें

ज्यादातर माता-पिता भी चाहते है कि उनके बच्चे भी हमेशा पढ़ते रहे और पढ़कर क्लास को टॉप करें और अपने जीवन में कुछ अच्छा हासिल करें| पर वह अपने बच्चों को पढ़ाई के लिए कभी भी प्रेरित नहीं कर पाते हैं|

आइए जानते हैं

how to motivate kids to read in hindi बच्चों को पढ़ने के लिए कैसे प्रेरित करें

आज मैं आपको ऐसी 8 तरीके बताएं बताएंगेकी आप कैसे बच्चों को प्रेरित कर सकते हो| बच्चों को पढ़ने के लिए कैसे प्रेरित करें how to motivate kids to read in hindi

एक साथ बैठकर पढ़ाई करवाये

जब भी आपके बच्चे स्कूल से या कॉलेज से घर आए तो आपको उनके साथ बैठना चाहिए तथा उनसे पूछना चाहिए कि आज आपको क्या-क्या पढ़ाया गया है और आप को पढ़कर कैसा लगा | आपको उनके साथ बैठकर ही उनको पढ़ाना चाहिए तथा उनकी समस्याओं का समाधान भी करना चाहिए| जब आप साथ बैठकर पढ़ाई करवाएंगे तो इससे भी भी प्रेरित होंगे और पढ़ने की उनको आदत भी लग जाएगी|

रिजल्ट पर नहीं बल्कि प्रक्रिया पर ध्यान दें

आपको अपने बच्चों के रिजल्ट पर ध्यान नहीं देना चाहिए बल्कि प्रक्रिया पर ध्यान देना चाहिए| ज्यादातर मां-बाप ही अपने बच्चों के रिजल्ट को लेकर ज्यादा चिंतित हो जाते हैं और जब उनका रिजल्ट खराब आ जाता है तो वह उन पर चिलाने लगते हैं बल्कि हमें यह देखना चाहिए कि क्या हमारे बच्चों के बिना मेहनत के फेल हुए है या मेहनत करने के बाद में हुए हैं|

अगर वह मेहनत कर रहे हैं और फिर भी अच्छा रिजल्ट नहीं आ रहा है तो हमें उनको उनका साथ देने की आवश्यकता है| अगर हम ऐसा करेंगे तो वह भी प्रेरित हो जाएंगे|

आज से ही जान ले कि अगर आपके बच्चों का रिजल्ट खराब आ रहा है तो आप उनका साथ दें| ना कि उन पर चिलाते रहे| आप उनको मोटिवेट करते रहे|

पढ़ाई का महत्व समझाएं

जब भी आप अपने बच्चों के साथ थोड़ा समय बिताये तो उनको बताना चाहिए कि जीवन में पढ़ना क्यों आवश्यक है तथा यह हमारे जीवन को किस तरह से बेहतर बना सकती है और हमारे सपनों को पूरा कर सकती है|

जब आप अपने बच्चों को पढ़ाई का महत्व समझाएंगे तो वह भी पढ़ने के लिए प्रेरित हो उठेंगे और पढ़ाई करके अपने सपनों को पूरा करने की कोशिश करेंगे|

उनके काम की तारीफ करें

जब भी आपके बच्चे कोई भी काम करें तो हमें उनके काम की तारीफ करनी चाहिए| जब भी वह पढ़ते हो तो हमें उनकी तारीफ करनी चाहिए तथा उनकी मदद करनी चाहिए |

जब भी अच्छे मार्क्स लेकर आए तो उनकी तारीफ करें तथा उनको उपहार दें| ऐसा करने से भी हम उनको प्रेरित कर सकते हैं|

अगर बच्चों को बचपन से ही उनके काम की तारीफ, उनके गुणों की तारीफ की जाए तो वे खुद को प्रेरित कर लेंगे और पढ़ाई में अच्छे से अच्छा करने की कोशिश करेंगे|

गुस्सा करने से बचाए

आपको कभी भी अपने बच्चों पर गुस्सा नहीं करना चाहिए और उन पर नहीं चिल्लाना चाहिए| अगर हम उन पर चिल्लाएंगे तो वे अपना ध्यान पूरी तरह से पढ़ाई पर नहीं लगा पाएंगे और खुद को कमजोर समझने लग जाएंगे| इसीलिए जरूरी होता है कि हम उन पर चिल्लाने की बजाय उनका साथ दें और उनकी तारीफ करें ताकि वह भी खुद को प्रेरित कर सकें|

उपहार देना ना भूले

जब भी आपके बच्चे अच्छे मार्क्स लेकर आये या कुछ छोटी सी भी उपलब्धि हासिल करें तो आपको उनको उपहार देना चाहिए तथा उनको शाबाशी देना चाहिए| ऐसा करने से भी वे दोबारा वैसा ही करने के लिए प्रेरित हो उठेंगे और पढ़ना शुरू कर देंगे|

उनकी हर बात को सुनें

आपको अपने बच्चों की हर बात को सुनना चाहिए तथा उनको समझने की कोशिश करनी चाहिए| ऐसा करने से हम उनको अच्छी तरह से जान पाएंगे और वह भी हम पर भरोसा करना सीख जाएंगे|

अगर हम उनकी हर बात को सुनने लग जाएंगे तो वह भी हमारी हर बात को सुनेंगे और हमारी हर बात को मानेंगे| इसीलिए जरूरी होता है कि हम उनको समझे ताकि  वह भी हमें समझे और हम पर भरोसा करके पढ़ाई करने लग जाए |

उनके लिए स्टडी शेड्यूल बनाये

आपको अपने बच्चों के लिए एक अच्छा स्टडी शेड्यूल बनाना चाहिए ताकि वे फिर फिक्स समय के अंदर पढ़ सके तथा हमे उनका पढ़ने का समय निर्धारित करना चाहिए|

 इसीलिए आज से ही अपने बच्चों के पढ़ने के लिए एक स्टडी शेड्यूल बनाये|

अपनी इच्छा बताएं

आपको भी अपने बच्चों को अपनी इच्छा बतानी चाहिए तथा अपने सपने बताने चाहिए| उनको बताना चाहिए कि वे आपके सपनों को किस तरह पढ़ कर पूरा कर सकते हैं|

जब आपके बच्चे आपकी इच्छा को सुनेंगे तो वह पढ़ने के लिए प्रेरित हो उठेंगे और आपके सपनों को पूरा करने के लिए पढना शुरू कर देंगे| इसलिए अपने बच्चों को अपनी इच्छा ही बताते रहे |

आप उनको बताएं कि आप उनसे कितनी अच्छे की उम्मीद करते हैं| ऐसा करने से भी वे खुद को मोटिवेट कर पाएंगे |

अच्छी लाइब्रेरी बनाये

बच्चे इसलिए नहीं पढ़ पाते हैं क्योंकि वे शोर-शराबे में पढ़ नहीं पाते हैं| इसीलिए हम उनके लिए अपने घर के एक अलग हिस्से में छोटी सी लाइब्रेरी बनाए ताकि वे वहां बैठकर शांति से पढ़ सके और अपना पूरा ध्यान पढ़ाई पर केंद्रित कर सकें |

उन पर दबाव न डालें

अगर आप भी अपने बच्चों को पढ़ाई के लिए मोटिवेट करना चाहते हो, तो जरूरी है कि आप उन पर पढ़ने का ज्यादा दबाव ना डालें और धीरे-धीरे उनकी पढ़ने के समय को बढ़ाएं|

कुछ माता पिता अचानक से ही अपने बच्चों को 10 घंटे पढ़ने के लिए कह देते है| जिनके कारण वे दबाव में आकर कभी भी खुद को मोटिवेट ही रख पाते हैं| इसीलिए अपने बच्चों को पढ़ने का समय धीरे-धीरे बढ़ाएं और ज्यादा जल्दबाजी न करें| ताकि वह भी शांत रहकर पढ़ाई कर सके और दबाव में ना आए|

तो अगर आप इन सभी तरीकों को अपनाते हो तो आप भी अपने बच्चों को पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हो |

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल बच्चों को पढ़ने के लिए कैसे प्रेरित करेंhow to motivate kids to read in hindi अच्छा लगा है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हो तथा आप  हमें भी प्रेरित कर सकते हो|

बच्चों को पढ़ने के लिए कैसे प्रेरित करेंhow to motivate kids to read in hindi अगर आपको यह अच्छा लगा है तो आप इसे अपने भाई बहनों के साथ जरूर शेयर करें ताकि वह भी पढ़ाई करने के लिए खुद को मोटिवेट कर सके|

Leave a Comment