मस्तिष्क को सुझाव देना सीखे Learn to suggest the brain best power

मस्तिष्क को सुझाव देना सीखे Learn to suggest the brain

ज्यादातर लोग ही खुद को सुझाव तो देते हैं पर ज्यादातर लोग खुद को नकारात्मक सुझाव देते हैं बल्कि हमें नकारात्मक सुझाव देने की बजाय खुद के मस्तिष्क को ऐसे सुझाव देनी चाहिए, जो हमें मजबूत बना सके|

हम मस्तिष्क को किस तरह से नकारात्मक सुझाव देते हैं How do we give negative suggestions to the brain

ज्यादातर लोग ही अपने मस्तिष्क को नकारात्मक सुझाव दे रहे होते हैं |वे खुद को बता रहे होते हैं कि वह किस तरह से कमजोर है और वह क्यों सफलता को प्राप्त नहीं कर सकते और उन्हीं की इसी आदत के कारण वे दबाव में आ जाते हैं और तनाव को महसूस करना शुरू कर देते हैं और खुद को पराजित जैसा महसूस करते हैं|

उनकी ऐसी सोच रखने के कारण वो खुद को हारा हुआ समझने लग जाते हैं| इसीलिए हमें कभी भी किसी भी तरह से खुद के मस्तिष्क को नकारात्मक सुझाव नहीं देनी चाहिए|

हम अपने मस्तिष्क को किस तरह से सकारात्मक सुझाव दे सकते हैं| How can we give positive suggestions to our brain?

अगर आप भी अपने मस्तिष्क को सकारात्मक रूप से सुझाव देना सीखना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको अपने ऊपर विश्वास होना चाहिए| जब भी आप अकेले बैठे तो खुद को बार-बार बताते रहे कि “आप के अंदर आत्मविश्वास की किसी भी तरह से कमी नहीं है| आपको पक्का विश्वास है कि आप सफलता को प्राप्त करेंगे|”|

जब आप इस तरह से खुद को विश्वास से भरे हुए सुझाव देते हो तो आपका मस्तिष्क भी उसी तरह से प्रतिक्रिया करता है और आपका शरीर भी वैसा ही बन जाता है| ऐसे सुझाव देने से आपके शरीर में एक नई ऊर्जा जाती है और आप काम करने के लिए प्रेरित होते हो|

इसीलिए हमेशा खुद के मस्तिष्क को सकारात्मक रूप से ही सुझाव देनी चाहिए और लगातार को बताते रहना चाहिए कि “आप कितने अद्भुत है”| ऐसा करने से आपका शरीर भी वैसा ही बनता चला जाएगा और आपके विचार भी सकारात्मक बन जाएंगे| इन्हीं विचारों की बदौलत आपका भविष्य भी सकारात्मक रूप से अच्छा हो जाएगा|

इसीलिए आपको निम्न बातों का हमेशा पालन करना चाहिए और उनको ध्यान में रखना चाहिए

  • कभी भी अपने मस्तिष्क को अपनी कमजोरियां ना बताएं|
  • जिस तरह हम दूसरों को अपनी बुराइयों के बारे में नहीं बताते उसी तरह से अपने मस्तिष्क को भी कभी भी अपनी बुराइयों के बारे में ना बताएं|
  • अपने मस्तिष्क को वही बातें बताएं जो आपके अंदर अच्छी है| ऐसे ऐसा करने से आपके अंदर और भी ज्यादा अच्छी आदतों का विकास होना शुरू हो जाएगा|
  • अपने मस्तिष्क को विश्वास से भरे विचारों का सेवन कराएं| ऐसा करने से आपका शरीर आत्मविश्वास से भर जाएगा और आप काम करने के लिए प्रेरित हो जाएंगे|
  • कभी भी अपने मस्तिष्क को ना बताएं कि आप थक चुके हो बल्कि जब भी आपको थकान महसूस हो तो खुद से कहे कि “हां मैं अभी भी काम कर सकता हूं, मेरे पास बहुत उर्जा है|” ऐसा कहते ही आपके शरीर के अंदर नहीं उर्जा जा जाएगी|
  • कभी भी अपने मस्तिष्क को तनाव से भरने की कोशिश ना करें| जब भी आपका मस्तिष्क तनाव में आए तो हंसने की कोशिश करें| इससे आपका तनाव दूर हो जाएगा|

तो अगर आप इन्हीं बातों का पालन करके अपने मस्तिष्क का भरण पोषण करते हो, तो आप भी आसानी से जीवन में सफलता को प्राप्त कर सकते हो और दूसरों से अलग दिख सकते हो|

Leave a Comment