crossorigin="anonymous"> पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करना चाहिए - Motivation For Life

पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करना चाहिए

अगर आपका भी पढ़ने का मन नहीं करता है तो आज हम आपके लिए कुछ ऐसे तरीके लाये है जिनको अपनाकर आप भी अपना मन पढ़ाई में लगा पाओगे और बड़ी आसानी से अपना पूरा ध्यान पढ़ाई पर ही केंद्रित कर पाओगे|

पढ़ाई में मन नहीं लगाने के तरीके

आपके मन में भी बार-बार इस सवाल का जवाब ढूंढने का मन करता है कि पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करना चाहिए| तो हम बताएंगे अगर आपका पढ़ाई में मन नहीं लगता तो आपको क्या करना चाहिए तथा आपको किन तरीकों को अपनाना चाहिए ताकि आपका भी मन पढ़ाई में लग जाए और आप लंबे समय तक लगातार पढ़ पाओ|

आइए जानते हैं कि पढ़ाई में मन नहीं लगता क्या करना चाहिए|

बहानो की बजाई वजह तलाश करें

ज्यादातर लोग ही बहाने बनाते रहते हैं और खुद को पढ़ने से दूर रखते रहते हैं| जब भी आपका पढ़ने का समय आता है तभी आप कोई ना कोई बहाना बनाते हैं कि “मैं इसे कर कल कर लूंगा” | और इसलिए हमारा मन पढ़ाई में नहीं लग पाता है|

इसीलिए जब भी आप कोई भी बहाने बनाए तो पहले सोचे कि क्या यह बहाना मेरी पढ़ाई के लिए उचित है या नहीं|

जब भी आपके मन में अपनी पढ़ाई को टालने के लिए कोई भी बहाना आए तो उसी वक्त पढ़ने की वजह खोजे और खुद को बताएं कि मेरे लिए पढना कितना जरूरी है और फिर देखना आपके मन में भी पढ़ने की इच्छा हो जाएगी और आप पढ़ना शुरू कर देंगे |

  • आज से ही जब भी आपके मन में पढ़ने को टालने के लिए कोई बहाना आए तो कोई अच्छी सी वजह तलाश करें|
  • अपने माता-पिता के सपनों को याद करें|
  • खुद की इच्छाओं को याद करें और
  • फिर देखें कि आपके लिए पढ़ना कितना जरूरी है और फिर आप आसानी से पढ़ाई पर अपना ध्यान लगा पाओगे|

फोन से दूरी बना ले

हमारा पढ़ाई में मन नहीं लगता क्योंकि फोन हमें पढ़ाई से दूर रखता है | फोन हमें आनंद देता है बल्कि पढ़ाई हमें आनंद नहीं देती और इसी का असर यह होता है कि हम फोन की आदत से ग्रसित हो जाते हैं और इसी को चलाते रहते हैं|

इसीलिए जरूरी है कि हम फोन के समय को फिक्स करें और उसको कम से कम चलाने का प्रयास करें| अगर आपने एक बार फोन से दूरी बना ली तो आप पढ़ाई के पास अपने आप चलो चले जाओगे और आपका मन भी पढ़ने का करने लग जाएगा|

अतः आज से ही फोन से दूरी बना ले|

नई जगह का चुनाव करें

अगर आपका मन भी पढ़ाई में नहीं लग रहा है तो आपको अपनी जगह को बदल लेना चाहिए क्योंकि बहुत बार हम ऐसी जगह पढ़ने की कोशिश करते हैं जहां पर बहुत ज्यादा शोर शराबा होता है| यह शोर शराबा हमारे घर का या पड़ोस निकल रहे बहुत ज्यादा वाहनों का या आस-पास में कोई ऐसी फैक्ट्री हो जहां पर मशीनों की आवाज आती है |

ऐसी स्थिति में हम अपना ध्यान पढ़ाई पर कभी भी नहीं लगा पाएंगे| इसीलिए हम अपने पढ़ने के लिए एक अच्छी सी जगह का चुनाव करें |जहां पर बहुत कम शोर-शराबा हो और हम अपना पूरा ध्यान पढ़ाई पर लगा पाए|

आप ऐसी जगह ढूंढने के लिए लाइब्रेरी ज्वाइन कर सकते हो जहां पर आप रहकर आसानी से अपना पूरा ध्यान पढ़ाई पर लगा पाओगे |

अच्छे दोस्तों का चयन करें

अगर आपके दोस्त भी दिनभर मस्ती करते रहते हैं तो आप भी यही करना सीख जाते हो|

अगर आपके दोस्त भी पढ़ाई में बहुत कमजोर होते हैं तो आप भी पढ़ाई में बहुत कमजोर होते हो| इसीलिए अगर आप भी पढ़ाई में तेज होना चाहते हो तो अच्छे दोस्तों का चयन करें जो दिन भर पढ़ते हो और पढ़ाई में बहुत अच्छे हो क्योंकि ऐसे दोस्तों का चयन करने से आप भी उन्हीं के साथ पढ़ना सीख जाओगे और पढ़ाई में आसानी से अपना मन लगा पाओगे|

पढ़ाई के महत्व को समझें

आप को सप्ताह में 1 दिन निकालना चाहिए और ध्यान से बैठ कर सोचना चाहिए कि पढ़ाई आपके सपनों को किस तरह प्रभावित कर सकती है और आप किस तरह पढ़ कर अपने सभी dreams को achieve कर सकते हो | अगर ऐसा नहीं किया तो इसका आपको क्या खामियाजा भुगतना पड़ सकता है| और कैसे  आपके सभी सपने बर्बाद हो सकते हैं|

जब हम इस तरह बैठ कर पढ़ाई के महत्व को समझेंगे तो हमें महसूस होगा कि पढ़ना हमारे लिए कितना जरूरी है और हम इसके बिना कुछ भी हासिल नहीं कर पाएंगे|फिर पढना हमारी मजबूरी बन जायेगी|

पूरा ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें

अगर हमे पढ़ाई करनी है तो हमें अपना पूरा फोकस study पर लगाना होगा और पढ़ाई के अलावा कभी भी किसी भी बात के बारे में नहीं सोचना होगा|

  • हमें कुछ समय के लिए टीवी को छोड़ना होगा |
  • इंटरनेट चलाना छोड़ना होगा|
  • सोशल प्लेटफॉर्म्स पर समय बिताना बंद करना होगा|
  • गेम्स खेलने बंद करने होंगे |

और अगर हमने अभी चीजों से अपना ध्यान हटा लिया तो धीरे-धीरे हमारा पढ़ने का अपने आप ही मन करने लग जाएगा| अतः इस आज से ही उन सभी चीजों को बंद कर दे जो आपको पढ़ाई से दूर लेकर लेकर जा रही है|

नया शेड्यूल बनाएं

अगर आप भी पढ़ नहीं पा रहे हो तो आपको अपना नया शेड्यूल बनाना चाहिए तथा इस तरह से बनाना चाहिए जो आपके लिए उचित हो और जिसका पालन कर सको|

जब आपसे अपनी पढ़ाई का शेड्यूल बना ले तो फिर आप पक्का संकल्प कर ले कि अब मैं इसी के हिसाब से पढूंगा और फिर आपको उसी के हिसाब से लगातार पढ़ते रहना चाहिए|

अपने माता-पिता के बारे में सोचें

जब भी आपके पढ़ने का मन नहीं कर रहा हो तो आपको अपने माता-पिता के बारे में सोचना चाहिए तथा यह सोचना चाहिए कि वह आपके लिए कितनी मेहनत कर रहे हैं तो आप का भी फर्ज बनता है कि आप भी उनके लिए मेहनत करें और पढ़ाई करें|

इस तरह अपने माता पिता के बारे में सोचकर भी आपका भी मन पढ़ाई में लग जाएगा|

अपने सपनों को याद करो

आपको अपने उन सभी सपनों को याद करते रहना चाहिए जिनको आप पूरा करना चाहते हो और फिर सोचना चाहिए कि क्या मैं इन सभी सपनों को बिना पढ़े हुए भी हासिल कर सकता हूं|

ऐसा सोचने के बाद में आपको पता चलेगा कि आप अपने सपनों को बिना पढ़े हुए हासिल नहीं कर सकते और अगर आपको अपने सपने हासिल करने हैं तो आपको पढ़ाई करनी ही होगी| ऐसा लगातार अपने सपनों को याद करते रहे ताकि आप भी पढ़ने के लिए प्रेरित होते रहे|

नई स्कूल बदल ले

अगर आप भी अपनी पढ़ाई में मन नहीं लगा पा रहे हो, तो बहुत बार हमारे एक ही स्कूल में रहने से भी ऐसा होता है| हो सकता है कि हमारे स्कूल में स्टाफ अच्छा ना हो जिसके कारण हम हर बात को समझ ना पाए| इसीलिए आपको कुछ समय के लिए दूसरी स्कूल या दूसरी टीचर्स से पढ़ने की कोशिश करनी चाहिए और देखना चाहिए कि क्या सच में हमारे स्कूल में ही कोई कमी ना है|

अगर हम नई जगह से पढ़ने की कोशिश करेंगे तो हो सकता है कि हमारा पढ़ाई में मन भी लगने लग जाए क्योंकि वहां पर हमें नए दोस्त मिलते हैं और नया माहोल में आकर हम पढ़ना शुरू कर देते हैं|

तो अगर आप का भी मन पढ़ाई में नहीं लगता है तो आप इन सभी तरीकों को अपनाएं और इन सभी टिप्स का पालन करें| ऐसा करने से आप भी अपना मन पढ़ाई में लगा पाओगे और आसानी से पढ़ पाओगे |



Leave a Comment