crossorigin="anonymous"> You are weak not your thinking कमजोर तुम नहीं तुम्हारी सोच है|

You are weak not your thinking कमजोर तुम नहीं तुम्हारी सोच है|

कमजोर तुम नहीं तुम्हारी सोच है| You are weak not your thinking.

कमजोर तुम नहीं तुम्हारी सोच है| अगर तुम खुद को कमजोर महसूस करते हो तो इसका मतलब है कि तुम अपनी सोच में भी खुद को कमजोर रखते हो और अगर तुम खुद को मजबूत समझते हो या बाहर से मजबूत दीखते हो तो इसका मतलब है कि आपके विचार भी मजबूत है|

जैसे विचार वैसा जीवन Thoughts like life

हमारे विचारों का हमारे जीवन पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है| पर यह बात सिर्फ कुछ लोग ही जानते हैं|इसीलिए वे अपने विचारों को बदल कर अपने जीवन को भी बदल लेते हैं|
वहीं पर असफल लोग लगातार इन इन्हीं विचारों में फंसे रहते हैं और उनको बदल नहीं पाते| इसीलिए वह असफलता को प्राप्त करते हैं|

विश्वास सच बन जाता हैं| Faith becomes truth

आपने सुना ही होगा कि आप जिस चीज पर विश्वास करते हैं वह चीज सच हो जाती है|

  • अगर आप इस चीज पर विश्वास करते हैं कि आप कमजोर है तो वास्तव में आप कमजोर है या आप समय के साथ धीरे-धीरे और भी कमजोर हो जाएंगे|
  • अगर आप इस बात पर विश्वास करते हैं कि आप अमीर बनने के लिए पैदा हुए हैं ,तो समय के साथ-साथ आप धीरे-धीरे अमीर बनना शुरू हो जाती है|
  • अगर आप इस बात पर विश्वास करते हैं कि आपके पास बहुत तेज बुद्धि है और आप कोई भी चीज़ अपनी बुद्धि के द्वारा हासिल कर सकते हो, तो आप वास्तव में हासिल कर सकते हो |
  • अगर आपने यह सोच लिया कि आप बस गरीब ही बने रहने के लिए पैदा हुई है और आप कभी भी कोई भी काम अच्छी तरह से नहीं कर पाओगे, तो सच में आपके साथ भविष्य में यही होने वाला है|


इसीलिए मैंने कहा था कि कमजोर आप नहीं बल्कि आपकी सोच है और अगर आप अपनी सोच को बड़ा बना ले तो आप भी समय के साथ बड़े बन जाएंगे और आप कमजोर इंसान से बिल्कुल मजबूत इंसान बन जाएंगे|

खुद को कमजोर से मजबूत कैसे बनाये How to make yourself strong from weak

अपनी समस्याओं के बारे में रोना छोड़ दें और उनके हल ढूंढना शुरू कर दें और जल्द ही एक नए इंसान के रूप में बदल जाए|

  • समस्याओं के बारे में ना सोचे| उनके हल ढूंढने की कोशिश करें और उनसे तुरंत बाहर निकल आए|
  • खुद के विचारों को बदलने की कोशिश करें| खुद को कभी भी कम नाआंके और कुछ बड़ा करें और अगर आप एक या दो बार काम करने की ठान लोगे तो फिर आपको विश्वास हो जाएगा कि आप सफलता प्राप्त करने के लिए बने हो|
  • अगर सोचना ही है तो क्यों ना कुछ अच्छा सोचा जाए| इसीलिए यह सोचने की बजाय कि आप कोई भी काम नहीं कर सकते हैं, यह सोचे कि “मैं कुछ भी कर सकता हूं” और फिर देखें आपके जीवन में क्या परिवर्तन होता है|
  • ईश्वर को कोसने की बजाय बाहर निकल कर कुछ काम करें और बहुत जल्द ही आपको उस काम के प्रति इनाम भी मिलेगा|इसीलिए आज से ही बाहर निकल कर काम करना शुरू कर दें|
  • खुद को कमजोर बता बता कर आप और भी कमजोर बना रहे हो| इसीलिए आज से ही खुद के बारे में कुछ अच्छा कहना शुरू करें और अपने दिमाग को विश्वास दिला दे कि आप भी कुछ बड़ा करने के लिए पैदा हुए हो |


बाहर जाए और अपने सभी शक्तियों का इस्तेमाल करें|

1 thought on “You are weak not your thinking कमजोर तुम नहीं तुम्हारी सोच है|”

Leave a Comment